For the best experience, open
https://m.hastakshep.com
on your mobile browser.
Advertisement

भारत में तेजी से उभर रहा है कोविड वैरिएंट एक्सबीबी, यूएस के 18 फीसदी से अधिक मामलों के लिए है जिम्मेदार ?

इस बीच सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि ओमिक्रॉन का नया एक्सबीबी सब-वैरिएंट पांच गुना से अधिक खतरनाक है। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय न इसे दावे को खारिज कर दिया है और वायरल मैसेज को फेक बताया है।
भारत में तेजी से उभर रहा है कोविड वैरिएंट एक्सबीबी  यूएस के 18 फीसदी से अधिक मामलों के लिए है जिम्मेदार
Advertisement

नई दिल्ली, 26 दिसंबर 2022.  एक रिपोर्ट के अनुसार,  कोविड-19 के ओमिक्रॉन वैरिएंट का एक्सबीबी सब-वैरिएंट (XBB sub-variant of Omicron variant of COVID-19) भारत में तेजी से प्रमुख प्रकार के रूप में उभर रहा है।

अमेरिका में 18 प्रतिशत से अधिक मामलों के लिए जिम्मेदार है एक्सबीबी सब-वैरिएंट

रिपोर्ट के मुताबिक, एक्सबीबी सब-वैरिएंट अमेरिका में भी 18 प्रतिशत से अधिक मामलों के लिए जिम्मेदार है।

क्या है कोविड-19 का एक्सबीबी सब-वैरिएंट?

विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक, एक्सबीबी एक पुनसंर्योजित सब-वैरिएंट है, जो ओमिक्रॉन वैरिएंट बीए.2.10.1 और बीए.2.75 का एक सब-वैरएिंट है, जिसका अर्थ है कि यह कोविड-19 ओमिक्रॉन वैरिएंट का एक सब-वैरिएंट है, कोई नया वैरिएंट नहीं है।

डब्लूएचओ का कहना है कि इस को लेकर आगे के अध्ययन की जरूरत है, वर्तमान डेटा यह सुझाव नहीं देता है कि एक्सबीबी संक्रमणों के लिए बीमारी की गंभीरता में पर्याप्त अंतर हैं।

हालांकि, शुरुआती एविडेंस अन्य सकुर्लेटिंग ओमिक्रॉन सब-वैरिएंट की तुलना में उच्च पुन संक्रमण जोखिम की ओर इशारा करते हैं।

कोविड-19 का एक्सबीबी सब-वैरिएंट को लेकर क्या कहता है डब्ल्यूएचओ?

डब्ल्यूएचओ ने कहा है कि अभी तक, अन्य ओमिक्रॉन वैरिएंट छूट प्राप्त प्रतिक्रियाओं से बचने का समर्थन करने के लिए कोई डेटा नहीं है। इसके अलावा, वर्तमान में कोई महामारी विज्ञान प्रमाण नहीं है जो इन सब-वैरिएंट को इशारा करता है कि अन्य ओमिक्रॉन सब-वैरिएंट की तुलना में अधिक खतरनाक है।

Advertisement

रिपोर्ट के अनुसार, एक्सबीबी का वैश्विक प्रसार 1.3 प्रतिशत है और इस वैरिएंट की दुनिया के 35 देशों में पुष्टि हो चुकी है। भारतीय एसएआरएस सीओवी-2 जीनोमिक्स कंसोर्टियम के अनुसार, भारत के मरीजों में यह बीमारी अन्य ओमिक्रॉन सब-वैरिएंट की तरह हल्की है। इसकी गंभीरता में कोई बढ़ोतरी नहीं देखी गई है।

व्हाट्सएप पर वायरल हो रहा है फर्जी मैसेज

इस बीच सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म व्हाट्सएप वायरल मैसेज में दावा किया जा रहा है कि ओमिक्रॉन का नया एक्सबीबी सब-वैरिएंट पांच गुना से अधिक खतरनाक है। हालांकि, केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय न इसे दावे को खारिज कर दिया है और वायरल मैसेज को फेक बताया है।

Covid variant XBB emerging rapidly in India, responsible for more than 18% of US cases?

Advertisement
Tags :
Author Image

उपाध्याय अमलेन्दु

View all posts

Hastakshep.com आपका सामान्य समाचार आउटलेट नहीं है। हम क्लिक पर जीवित नहीं रहते हैं। हम विज्ञापन में डॉलर नहीं चाहते हैं। आपके समर्थन के बिना हम अस्तित्व में नहीं रहेंगे।
Advertisement
×