For the best experience, open
https://m.hastakshep.com
on your mobile browser.
Advertisement

जानिए मेडिकल रिसर्च में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कैसे ला रही है बदलाव

पिछले 20 वर्षों में, आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस हमारे जीवन का एक बढ़ता हुआ हिस्सा बन गया है। शोधकर्ता अब नवीन और दूरगामी तरीकों से मेडिकल रिसर्च में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस का प्रयोग कर दवा और स्वास्थ्य देखभाल में सुधार के लिए एआई की शक्ति का उपयोग कर रहे हैं।
जानिए मेडिकल रिसर्च में आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस कैसे ला रही है बदलाव
Advertisement

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस और मेडिकल रिसर्च (Artificial Intelligence and Medical Research)

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस : जानिए यह मेडिकल रिसर्च को कैसे बदल रही है

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस या एआई दशकों से मौजूद है। पिछले 20 वर्षों में, यह हमारे जीवन का एक बढ़ता हुआ हिस्सा बन गया है। शोधकर्ता अब नवीन और दूरगामी तरीकों से दवा और स्वास्थ्य देखभाल में सुधार के लिए एआई की शक्ति का उपयोग कर रहे हैं।

सबसे पहले, कंप्यूटर केवल मानव इनपुट के आधार पर गणना कर सकते थे। एआई में, वे कुछ कार्य करना सीखते हैं। एआई के कुछ शुरुआती रूप चेकर्स या शतरंज खेल सकते हैं और मानव विश्व चैंपियन को भी हरा सकते हैं। अन्य एआई भाषण को पाठ में पहचान और परिवर्तित कर सकते हैं।

आज चिकित्सा देखभाल में सुधार के लिए एआई के विभिन्न रूपों का उपयोग किया जा रहा है।

एनआईएच न्यूज इन हेल्थ के ताजा मासिक न्यूजलैटर में प्रकाशित एक समाचार के मुताबिक शोधकर्ता इस बात का पता लगा रहे हैं कि एआई का उपयोग परीक्षण के परिणामों और छवि डेटा के माध्यम से कैसे किया जा सकता है। एआई तब उपचार निर्णयों में मदद करने के लिए सिफारिशें कर सकता है।

कुछ एनआईएच-वित्त पोषित अध्ययन ‘स्मार्ट कपड़े’ विकसित करने के लिए एआई का उपयोग कर रहे हैं जो निचले पीठ दर्द को कम कर सकते हैं। यह तकनीक पहनने वाले को असुरक्षित शारीरिक गतिविधि के बारे में चेतावनी दे सकती है। अन्य अध्ययन पहनने योग्य सेंसर का उपयोग करके रक्त ग्लूकोज (या रक्त शर्करा) के स्तर को बेहतर ढंग से प्रबंधित करने के तरीकों की तलाश कर रहे हैं।

Advertisement

artificial intelligence
Artificial Intelligence
Advertisement
Tags :
Author Image

उपाध्याय अमलेन्दु

View all posts

Hastakshep.com आपका सामान्य समाचार आउटलेट नहीं है। हम क्लिक पर जीवित नहीं रहते हैं। हम विज्ञापन में डॉलर नहीं चाहते हैं। आपके समर्थन के बिना हम अस्तित्व में नहीं रहेंगे।
Advertisement
×